HeadlinesInternationalTrending

ट्रंप ने तोड़ी थी परंपरा

वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक़, अमेरिका के तीसरे राष्ट्रपति थॉमस जेफ़रसन ने 1805 में इस परंपरा की शुरुआत की थी, व्हाइट हाउस में इफ़्तार पार्टी की शुरुआत 1996 में राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने की थी.

ट्रंप ने तोड़ी थी परंपरा

वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक़, अमेरिका के तीसरे राष्ट्रपति थॉमस जेफ़रसन ने 1805 में इस परंपरा की शुरुआत की थी, व्हाइट हाउस में इफ़्तार पार्टी की शुरुआत 1996 में राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने की थी.

सेजल सिंह की रिपोर्ट,रांची: वॉशिंगटन पोस्ट के मुताबिक़, अमेरिका के तीसरे राष्ट्रपति थॉमस जेफ़रसन ने 1805 में इस परंपरा की शुरुआत की थी. हालांकि इसके बाद निकट अतीत में व्हाइट हाउस में इफ़्तार पार्टी की शुरुआत 1996 में राष्ट्रपति बिल क्लिंटन ने की थी. इस परंपरा को जॉर्ज डब्ल्यू बुश और बराक ओबामा ने भी जारी रखा था. इस डिनर में अमेरिकी मुस्लिम समुदाय के अहम लोग शामिल होते थे. इसके साथ ही इसमें कांग्रेस सदस्य और मुस्लिम देशों के डिप्लोमैट भी शरीक होते थे. 1999 से अमेरिकी विदेश मंत्रालय या तो एक इफ़्तार पार्टी देता था या ईद के मौक़े पर एक स्वागत समारोह में पार्टी का आयोजन करता थाI इस मौक़े पर कई डिप्लोमैट्स जुटते थे. डोनाल्ड ट्रंप अपने चुनावी कैंपेन से ही इस्लाम को लेकर आक्रामक रहे थे.

ट्रंप ने अपने चुनावी कैंपेन में मस्जिदों को निगरानी में रखने की बात कही थी. ट्रंप ने राष्ट्रपति बनने के बाद कई मुस्लिम बहुल देशों के नागरिकों के अमरीका आने पर पाबंदी भी लगाने की कोशिश की थी. हालांकि ट्रंप ने अपने पहले विदेशी दौरे में सऊदी अरब की यात्रा कर अपनी छवि बदलने की कोशिश की थी. इस यात्रा में उन्होंने 55 मुस्लिम बहुल देशों के सामने आतंकवाद के ख़िलाफ़ साथ आने की अपील की थीI नवंबर 2017 में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनल्ड ट्रंप के ट्विटर अकाउंट से तीन मुसलमान विरोधी भड़काऊ वीडियो रीट्वीट किए गए थे. ट्रंप के अकाउंट से एक कट्टरपंथी ब्रिटिश समूह के ट्वीट को रीट्वीट किया गया था.

और देखें: राहुल गांधी को अपने पार्टी की कोई चिंता नहीं उन्हे अपने हॉलीडे से है मतलब: बीजेपी II Asia News India II Rahul Gandhi

पहला ट्वीट ब्रिटेन फ़र्स्ट की उपनेता जेडा फ्रांसेन का था. इस ट्वीट में दावा किया गया था कि एक प्रवासी मुसलमान एक व्यक्ति पर हमला कर रहा है. इसी तरह के दो और वीडियो रीट्वीट किए गए थे. इस संगठन का मानना था कि ब्रिटेन का इस्लामीकरण हो रहा है. इस संगठन ने ब्रिटेन के आम चुनाव में प्रवासी विरोधी और गर्भपात विरोधी नीतियों को मुद्दा बनाकर उम्मीदवार भी खड़ा किया था, लेकिन किसी सीट पर जीत नहीं मिली. फ्रांसेन के ट्विटर पर 52 हज़ार फ़ॉलोवर्स थे. डोनल्ड ट्रंप द्वारा रीट्वीट किए जाने पर फ्रांसेन ने ख़ुशी जताई थी. अपने ट्वीटर अकाउंट पर उन्होंने लिखा है, ”डोनल्ड ट्रंप ने ख़ुद इन वीडियो को रीट्वीट किया है. उनके चार करोड़ चार लाख फ़ॉलोवर्स हैं. ईश्वर आपकी रक्षा करे ट्रंप. अमरीका पर भी ईश्वर की दुआ बरसे!

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button