BiharHeadlinesPolitics

तेज प्रताप यादव बोले विरासत का पहला हकदार होने के बावजूद उन्होंने छोटे भाई को मुख्यमंत्री का दावेदार बनाया था

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रमुख लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव बोले बड़े भाई होने के नाते विरासत का पहला हकदार होने के बावजूद उन्होंने छोटे भाई को मुख्यमंत्री का दावेदार बनाया था।

तेज प्रताप यादव बोले विरासत का पहला हकदार होने के बावजूद उन्होंने छोटे भाई को मुख्यमंत्री का दावेदार बनाया था

राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) के प्रमुख लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव बोले बड़े भाई होने के नाते विरासत का पहला हकदार होने के बावजूद उन्होंने छोटे भाई को मुख्यमंत्री का दावेदार बनाया था।

हिमांशु शर्मा की रिपोर्ट,पटना:  बिहार के सबसे बड़े राजनीतिक परिवार में कोहराम मच गया है. पूर्व मुख्यमंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) प्रमुख लालू यादव के बड़े बेटे तेज प्रताप यादव ने सोमवार रात अचानक आरजेडी से इस्तीफे की घोषणा कर उन्हें चौंका दिया। अब तक खुद को छोटे भाई तेजस्वी यादव को अर्जुन बताकर खुद को सारथी कृष्ण के रूप में पेश करते आ रहे तेज प्रताप के ट्वीट को लालू परिवार में संभावित महाभारत के रूप में देखा जा रहा है। लालू से मुलाकात करके तेजप्रताप यादव ने इस्तीफा सौंपने की बात कही है.

और पढ़े: Jersey Box Office Collection Day 3: ‘केजीएफ 2’ की आंधी में उड़ी शाहिद की फिल्म ‘जर्सी’, पहले वीकएंड में ही ढेर

आरजेडी के यूथ विंग के नेता रामराज की ओर से मारपीट और लालू-तेजस्वी को गाली-गलौज का आरोप लगने के कुछ घंटे बाद तेज प्रताप यादव ने ट्विटर पर लिखा, “मैंने अपने पिता के नक्शेकदम पर चलते हुए सभी कार्यकर्ताओं को सम्मान दिया, मैं अपने पिता से मिलकर जल्द ही इस्तीफा दे दूंगा।” ट्वीट में उन्होंने पिता लालू यादव, मां राबड़ी देवी, भाई तेजस्वी यादव और बहन मीसा भारती को भी टैग किया है. कुछ देर बाद उन्होंने फेसबुक पर मां राबड़ी देवी के साथ एक तस्वीर भी शेयर की, जिसमें मां प्यार से सिर सहलाती नजर आ रही हैं. माना जा रहा है कि तेजप्रताप ने इस तस्वीर से यह बताने की कोशिश की है कि इस पारिवारिक कलह में उनकी मां उनके साथ हैं. हालांकि अभी राबड़ी, लालू या तेजस्वी का स्टैंड सामने नहीं आया है।

तेज प्रताप यादव ने आधी रात के बाद अपने छात्र संगठन जनशक्ति परिषद के एक नेता का एक वीडियो अपने फेसबुक पेज पर शेयर करते हुए कहा है कि जो लोग परिवार को बांटना चाहते हैं, उन्होंने रामराज को पटकथा लिखी है और उनके कहने पर सबकुछ हो रहा है । आरजेडी के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह का नाम लेते हुए एक बार फिर उन पर आरोप लगाया गया है. इसमें यह भी कहा गया है कि लालू और तेजस्वी यादव को अपशब्द कहने का आरोप झूठा है. तेजप्रताप ने लालू यादव के पैर धोकर पिए थे , बड़े भाई होने के नाते विरासत का पहला हकदार होने के बावजूद उन्होंने छोटे भाई को मुख्यमंत्री का दावेदार बनाया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button