HeadlinesTrendingUttar Pradesh

लखीमपुर खीरी हिंसा : सांसद वरुण गांधी का यह मजाल की ट्विटर अकाउंट के बायो से मिटाया भाजपा का नामो निशान

उत्तर प्रदेश के पीलीभीत से वरुण गांधी ने एक बड़ा कारनामा कर दिखाया है बता दे सांसद ने अपने ट्विटर अकाउंट के बायो से भाजपा शब्द का नाम हटा दिया है

लखीमपुर खीरी हिंसा : सांसद वरुण गांधी का यह मजाल की ट्विटर अकाउंट के बायो से मिटाया भाजपा का नामो निशान

प्रीति कुमारी की रिपोर्ट लखनऊ: वही सांसद ने सोमवार की सुबह मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को पत्र लिखकर लखीमपुर खीरी हिंसा मामले की सीबीआई जांच कराने की मांग की थी और साथ ही पीड़ित परिवारों को एक-एक करोड़ रुपए का मुआवजा भी देने की मांग की थी, इतना ही नहीं उन्होंने इससे पहले भी योगी सरकार द्वारा घोषित किए गए गन्ने का रेट रुपए 350% क्विंटल घोषित करने पर प्रदेश सरकार का आभार प्रकट किया और कहा कि कृपया इस पर पुनर्विचार कर बढ़ती लागत व महंगाई के अनुरूप ₹400 रुपए का रेट घोषित करने का कष्ट करें। बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने सीएम योगी को लिखे गए पत्र में कहा कि लखीमपुर खीरी में विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को बुरी तरह कुचलने का जो प्रयास किया गया है वो बेहद देश के नागरिकों को झकझोर देने वाली घटना है।

याद दिला दें कि इस घटना से 1 दिन पहले ही देश ने अहिंसा के पुजारी महात्मा गांधी जी की जयंती मनाई थी और अगले ही दिन लखीमपुर खीरी में हमारे अन्नदाताओ की हत्या कर दी गई जो किसी भी सभ्य समाज के लिए बड़े शर्म की बात है। आंदोलनकारी किसान भाई हमारे अपने नागरिक हैं यदि कुछ मुद्दों को लेकर किसान भाई पीड़ित है और अपने हक की लड़ाई लड़ रहे हैं तो किसी को भी इस मुद्दे को लेकर आपत्ति नहीं होनी चाहिए क्योंकि सभी को अपने लोकतांत्रिक अधिकारों के तहत विरोध प्रदर्शन करने का हक है इसलिए हमें उनके साथ बड़े ही संयम और धैर्य के साथ बर्ताव करना चाहिए, हमारा समाज धर्म की बात करता तो है लेकिन कुछ ही पल में सब भूल कर एक दूसरे की जान लेने में उतारू हो जाता है।

वरुण गांधी के पत्र की खुली पोल…..

बीजेपी सांसद द्वारा सीएम योगी को लिखे गए पत्र में आगे लिखा है कि हमारे हर हाल में अपनी किसानों के साथ गांधीवादी व लोकतांत्रिक तरीके से कानून के दायरे में पेश आना चाहिए, इस घटना में सभी संदिग्धों को तत्काल चिन्हित कर आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कर सख्त से सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए, इस मामले में सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में सीबीआई जांच कराकर दोषियों को सजा देना काफी बेहतर होगा ताकि भविष्य में किसानों के साथ इस प्रकार की घटना दुबारा से ना दोहराई जाए। आशा है कि इस घटना की गंभीरता को देखते हुए मेरे निवेदन पर तत्काल कार्रवाई की जाएगी। आपको बता दें बीजेपी सांसद ने लखीमपुर खीरी की घटना में शहीद हुए किसान भाइयों को तहे दिल से श्रद्धांजलि दी है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button