HeadlinesUttar Pradesh

आजम खां, मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद की अब कुंडली खंगालेगी ED, मनीलान्ड्रिंग का है मामला

यूपी के सपा नेता आजम खां, बाहुबली माफिया मुख्तार अंसारी और अतीक अहमद की अब कुंडली खंगालेगी ED, इनसबके के खिलाफ मनी लान्ड्रिंग का है मामला औऱ कोर्ट ने पूछताछ की इजाजत दे दी है.

उत्तर प्रदेश ब्यूरो : उत्तर प्रदेश की अलगअलग जेलों में बंद चल रहे सपा नेता आजम खां, गैंगेस्टर से बसपा विधायक बनेमुख्तार अंसारी अतीक अहमद की मुश्किलें अब बढ़ने वाली है. वजह ये है कि अब प्रवर्तन निदेशालय मनी लॉन्ड्रिंगमामले में इन तीनों नेताओं की कुंडली खंगालेगा.  निदेशालय ने इन तीनों नेताओं के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले मेंमुकदमा दर्ज किया गया था. अब निदेशालय को कोर्ट ने इन तीनों नेताओं को कस्टडी में लेकर पूछताछ करने की अनुमतिदे दी है. टीम जल्द ही तीनों नेताओं से पूछताछ कर सकती है.

आजम खान पर लगा है ये आरोप 

यूपी के सपा नेता आजम खां पर किसानों की जमीन हड़पने का आरोप लगा है. जानकारी के मुताबिक, नियमों कीधज्जियां उड़ाकर आजम खां ने किसानों की जमीनें ले हड़प लीं. इसकी शिकायत किसानों ने राज्यपाल से की थी. कहागया है कि उन्होंने अपने ड्रीम प्रोजेक्ट जौहर यूनिवर्सिटी के नाम पर जिन जमीनों का अधिग्रहण किया था, उनमें से कईजमीनें सरकारी हैं और यूनिवर्सिटी बनाने में सरकारी पैसे का इस्तेमाल किया गया है.

यूपी की बांदा जेल में बंद बाहुबली माफिया बसपा विधायक मुख्तार अंसारी केखिलाफ प्रवर्तन निदेशालय ने एक जुलाई को मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था. उनपर आरोप है उन्होंने एक सरकारी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा जमाया और उसे सातसाल के लिए 1.7 करोड़ रुपये प्रति वर्ष के हिसाब से एक निजी कंपनी को किराए पर देदिया. अब ईडी इस जमीन की रकम और कब्जा जमाने के मामले में पूछताछ करेगी.

अतीक के नाम हैं 16 बेनामी कंपनियां, होगी जांच

यूपी के माफिया और बाहुबली अतीक अहमद के खिलाफ भी ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग का मुकदमा दर्ज किया था. उनपरआरोप है कि उनके नाम से कई बेनामी कंपनियों का पता चला था और इस मामले में पिछले साल पुलिस ने अतीक कीकुल 16 कंपनियां चिह्नित की थीं. इन कंपनियों में नाम तो किसी और का है लेकिन परोक्ष रूप से इनमें पैसा अतीक कालगा है. इनमें से ज्यादातर कंपनियों का कारोबार रियल इस्टेट से संबंधित है.

इसके अलावा अतीक के बारे में यह भी जानकारी मिली है कि इन कंपनियों का लेनदेन करोड़ों में किया गया है. पुलिसअफसरों ने बताया था कि जिन 16 कंपनियों के बारे में जानकारी मिली है उनमें से तीन कंपनियां अतीक की पत्नी साइस्तापरवीन जबकि पांच रिश्तेदारों के नाम से रजिस्टर्ड हैं और इनमें से आठ कंपनियां ऐसी हैं जिनके बारे में यह नहीं स्पष्ट होसका है कि उनका मालिक कौन है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: