DelhiHeadlinesTrendingUttar Pradesh

ट्विन टावर ध्वस्त…सायरन, धमाका और फिर धुआं, नोएडा में मशरूम ऑफ डस्ट

पलक झपकते ही मिट्टी में मिल गया ट्विन टावरनोएडा की गगनचुंबी इमारत को विस्फोट करके गिरा दिया गया है. इसके साथ ही होम बायर्स के वो सपने भी ध्वस्त हो गए हैं, जो बिल्डर ने इस प्रोजेक्ट को शुरू करते हुए उन्हें दिखाए थे

ट्विन टावर ध्वस्त…सायरन, धमाका और फिर धुआं, नोएडा में मशरूम ऑफ डस्ट

पलक झपकते ही मिट्टी में मिल गया ट्विन टावरनोएडा की गगनचुंबी इमारत को विस्फोट करके गिरा दिया गया है. इसके साथ ही होम बायर्स के वो सपने भी ध्वस्त हो गए हैं, जो बिल्डर ने इस प्रोजेक्ट को शुरू करते हुए उन्हें दिखाए थे.

अनु कुमारी की रिपोर्ट, रांची: पलक झपकते ही मिट्टी में मिल गया ट्विन टावरनोएडा की गगनचुंबी इमारत को विस्फोट करके गिरा दिया गया है. इसके साथ ही होम बायर्स के वो सपने भी ध्वस्त हो गए हैं, जो बिल्डर ने इस प्रोजेक्ट को शुरू करते हुए उन्हें दिखाए थे. ये ट्विन टावर देश के नामी बिल्डर सुपरटेक के ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार था.नोएडा विकास प्राधिकरण और बिल्डर की मिलीभगत से नियमों को ताक पर रखकर इस बिल्डिंग का निर्माण हुआ था. सुप्रीम कोर्ट का आदेश आने के बाद उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डेढ़ दशक इस पुराने इस मामले की जांच कराई.ये ट्विन टावर देश के नामी बिल्डर सुपरटेक के ड्रीम प्रोजेक्ट में शुमार था.

और देखे: किसी का इस्तेमाल कर उसे फेंकना नहीं चाहिए’, गडकरी ने दी देश के उद्यमियों को सीख 

इसमें 3, 4 और 5 BHK के फ्लैटों का निर्माण किया जाना था. दोनों टावरों को 40 मंजिल बनाने की योजना थी, लेकिन बीच में ही मामला कोर्ट में चला गया और काम पर रोक लग गई. 32 मंजिला इन टावरों में 950 फ्लैट्स थे, जो अब ध्वस्त हो चुके हैं.2006 में लॉन्च किए गया ये प्रोजेक्ट नोएडा का पहला सबसे आलिशान प्रोजेक्ट था. उस समय ये सबसे ऊंची इमारत के तौर पर लॉन्च की गई थी. जिसमें होम बायर्स को हर तरह की सुविधाएं देने का वादा किया गया था. इसमें स्विमिंग पूल, मार्केट, जिम, क्लब समेत अन्य सुविधाएं शामिल हैं.

सुप्रीम कोर्ट का है सख्त आदेशआठ सेकंड में जमींदोज हुआ नोएडा का ट्विन टावर

नोएडा का ट्विन टावर आठ सेकंड में जमींदोज हो गया, कई मीटर तक धूल का गुबार फैला हुआ है। एक्सप्रेस वे तक धुएं का गुबार पहुंच गया है।पुलिस ने नोएडा-ग्रेटर नोएडा हाईवे को बंद कर दिया गया है। वहीं, पुलिस द्वारा हटाने के बाद भी स्थानीय ग्रामीण फ्लाईओवर पर चढ़े हैं।ध्वस्तीकरण के तुरंत बाद शुरू होगा पानी का छिड़काव
पानी का छिड़काव करने के लिए नोएडा प्राधिकरण की टीम तैयार है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: