Uttar Pradesh

‘महाराज’ का होगा पंचूर में भव्य स्वागत, मां का आशीर्वाद लेंगे योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 3 से 5 मई तक उत्तराखंड के दौरे पर रहेंगे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के उत्तराखंड दौरे की जानकारी दी

‘महाराज’ का होगा पंचूर में भव्य स्वागत, मां का आशीर्वाद लेंगे योगी आदित्यनाथ

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 3 से 5 मई तक उत्तराखंड के दौरे पर रहेंगे मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के उत्तराखंड दौरे की जानकारी दी

हिमांशु शर्मा की रिपोर्ट ,देहरादून: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ 3 से 5 मई तक उत्तराखंड के दौरे पर रहेंगे. मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के उत्तराखंड दौरे की जानकारी दी. उन्होंने कहा कि यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ 3 मई से तीन दिवसीय दौरे पर उत्तराखंड आ रहे हैं। सरकार से जुड़े सूत्रों का कहना है कि गंगोत्री धाम के कपाट खुलने के अवसर पर दोपहर 12:15 बजे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी गंगोत्री धाम में मौजूद रहेंगे.

उसके बाद वह 2:40 बजे यमकेश्वर पहुंचेंगे और गुरु गोरखनाथ महाविद्यालय में स्थापित अपने गुरु अवैद्यनाथ की मूर्ति का अनावरण भी करेंगे। इसके बाद योगी आदित्यनाथ शाम साढ़े छह बजे यमकेश्वर से देहरादून एयरपोर्ट के लिए रवाना होंगे। सूत्रों के मुताबिक फिलहाल पंचूर गांव में योगी आदित्यनाथ के रात्रि विश्राम का कार्यक्रम टाल दिया गया है. हालांकि योगी आदित्यनाथ के कार्यक्रमों की आधिकारिक जानकारी जारी नहीं की गई है।

इमोशनल मीटिंग: दूसरी बार उत्तर प्रदेश के सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने के लिए देहरादून आए थे, लेकिन तब उनके परिवार वाले उनसे नहीं मिल पाए. हालांकि उन्हें देहरादून के जॉली ग्रांट अस्पताल में भर्ती अपने भाई का हालचाल जरूर जाना था, लेकिन वह अपनी मां या परिवार के अन्य सदस्यों से नहीं मिल पाए। ऐसे में इस बार पंचूर गांव के दौरे के दौरान योगी आदित्यनाथ अपनी मां और बहन से भी मुलाकात करेंगे. बता दें कि योगी आदित्यनाथ की बहन शशि पौड़ी गढ़वाल स्थित नीलकंठ मंदिर में ही चाय की दुकान लगाती हैं।

बेहद सादगी भरा रहता है सीएम योगी का परिवार: प्रतिमा अनावरण कार्यक्रम के बाद योगी अपने गांव पंचूर भी जाएंगे. जहां उसकी मां और परिवार रहता है। वर्ष 2020 में कोविड के दौरान पिता आनंद सिंह रावत की मृत्यु के बाद योगी अभी तक अपनी मां से नहीं मिले हैं और न ही अपने गांव गए हैं. यहां तक कि जब योगी ने कोटद्वार में 2022 की चुनावी रैली की थी, तब भी उन्होंने कहा था कि वह जल्द ही अपनी मां और परिवार से मिलने गांव पहुंचेंगे. बता दें कि योगी आदित्यनाथ की मां सावित्री देवी 84 साल की हैं। सीएम योगी का परिवार बेहद सादगी से रहता है।

और देखें:  जोधपुर के दूसरे इलाके में भी हुआ पथराव लोगो के बीच छाया दहशत का माहौल II Jodhpur Violence II Breaking

शिक्षकों से भी मिलेंगे योगी: सीएम योगी आदित्यनाथ अपने परिवार के सदस्यों के अलावा उन शिक्षकों से भी मुलाकात करेंगे, जिन्होंने उन्हें बचपन में पढ़ाया था. सीएम योगी के कार्यक्रम में शामिल होने के लिए उन सभी शिक्षकों को आमंत्रण भेजा गया है, जो कभी योगी आदित्यनाथ को पढ़ा चुके हैं. इसके साथ ही सीएम योगी आदित्यनाथ के बचपन के दोस्त को भी कार्यक्रम में आमंत्रित किया गया है. कार्यक्रम के लिए पौड़ी गढ़वाल के विठयानी गांव में एक बड़ा मंच तैयार किया गया है. योगी आदित्यनाथ मंच से ही लोगों को संबोधित करेंगे और अपने बचपन की यादें भी ताजा करेंगे.

विपक्ष को भी देंगे कड़ा संदेश: योगी आदित्यनाथ ने जहां प्रतिमा का अनावरण किया जाएगा, वहीं पर उन्होंने शिक्षा ग्रहण की है. प्राथमिक शिक्षा लेने के बाद योगी आदित्यनाथ ऋषिकेश गए और इसी दौरान वे गुरु अवैद्यनाथ के संपर्क में आए। ऋषिकेश में पढ़ने के बाद उन्हें कुछ शोध के लिए गोरखपुर जाना पड़ा और वहां 1993 में उन्होंने अपने गुरु से दीक्षा ली और संन्यास लिया। योगी आदित्यनाथ का यह दौरा इसलिए भी बेहद खास बताया जा रहा है क्योंकि योगी आदित्यनाथ इस दौरे के साथ-साथ अपने विपक्षी नेताओं को कड़ा संदेश देना चाहते हैं. क्योंकि कांग्रेस और सपा सहित अन्य विपक्षी दलों के नेताओं ने कभी-कभी सीएम योगी आदित्यनाथ पर कटाक्ष किया है कि वह दूसरे के परिवारों की समस्या क्या समझेंगे, जो अपने परिवार का नहीं हुआ हैं।

कौन हैं योगी के गुरु अवैद्यनाथ: अवैद्यनाथ का जन्म 28 मई 1921 को पौड़ी गढ़वाल के कांडी गांव में हुआ था। उनके पिता का नाम राय सिंह बिष्ट था। वह सक्रिय राजनीति में भी रहे और बाद में गुरु गोरखनाथ मंदिर के पीठाधीश्वर के रूप में जाने गए, उनका मुख्य उद्देश्य हिंदू समाज और सभ्यता को आगे बढ़ाना था। उन्होंने हमेशा हिंदू धर्म की सोशल इंजीनियरिंग पर काम किया। योगी आदित्यनाथ को अवैद्यनाथ से ही हिंदू युवा वाहिनी बनाने की प्रेरणा मिली थी। वर्ष 1962, 1967, 1974 और 1977 में अवैद्यनाथ उत्तर प्रदेश विधान सभा की मानीराम सीट से विधायक भी चुने गए। इसके साथ ही वे 1989 और 1996 में गोरखपुर से लोकसभा के सदस्य भी रहे।

क्या है कार्यक्रम: बताया जा रहा है कि सीएम योगी 3 मई को उत्तराखंड आएंगे और पौड़ी के यमकेश्वर के लिए रवाना होंगे. पौड़ी में योगी आदित्यनाथ करेंगे गुरु अवैद्यनाथ की प्रतिमा का अनावरण . 4 तारीख को परिसंपत्ति को लेकर अधिकारियों की सीएम के साथ बैठक होगी। वहीं, 5 मई को योगी आदित्यनाथ हरिद्वार आएंगे और संतों से मुलाकात करेंगे.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button