DelhiHeadlinesTrending

इमरान खान की तरह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने एक बार फिर अल्पा कश्मीर राग

पाकिस्तान में आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गई है। देश के बिगड़ते आर्थिक संकट के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने एक बार फिर कश्मीर का जिक्र किया है.

इमरान खान की तरह पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने एक बार फिर अल्पा कश्मीर राग

पाकिस्तान में आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गई है। देश के बिगड़ते आर्थिक संकट के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने एक बार फिर कश्मीर का जिक्र किया है.

हिमांशु शर्मा की रिपोर्ट,सहारनपुर: पाकिस्तान में आर्थिक स्थिति बहुत खराब हो गई है। देश के बिगड़ते आर्थिक संकट के बीच पाकिस्तान के प्रधानमंत्री शहबाज शरीफ ने एक बार फिर कश्मीर का जिक्र किया है. शुक्रवार को राष्ट्र के नाम संबोधन के दौरान शहबाज शरीफ ने कहा कि दक्षिण एशिया में स्थायी शांति के लिए कश्मीर से धारा 370 के फैसले को रद्द करना जरूरी है। शरीफ ने आगे कहा कि कश्मीर में 5 अगस्त 2019 की कार्रवाई को उलटना भारत का कर्तव्य है, ताकि हम शांतिपूर्ण तरीके से जम्मू-कश्मीर समेत सभी समस्याओं के समाधान के लिए आगे बढ़ें.

अनुच्छेद 370 आंतरिक मामला है : भारत

भारत की संसद ने भारतीय संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू और कश्मीर को दी गई विशेष स्वायत्ता को 5 अगस्त 2019 को रद्द कर दिया। इस फैसले के बाद भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ गया है। आपको बता दें कि भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से साफ कह दिया है कि अनुच्छेद 370 को खत्म करना उसका आंतरिक मामला है.

और पढ़े: एक कश्मीरी टीवी स्टार के हत्यारे के साथ मुठभेड़ में, लश्कर के दो आतंकवादी मारे गए

इमरान खान पर हमला किया

वहीं शुक्रवार को शहबाज शरीफ ने कहा कि देश को दिवालिया होने से बचाने के लिए सरकार के लिए ईंधन की कीमतें बढ़ाना जरूरी है। पाकिस्तान ने गुरुवार को पेट्रोलियम उत्पादों की कीमतों में 30 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की। बढ़ोतरी के बाद पेट्रोल की कीमत अब 179.85 रुपये (पाकिस्तानी रुपया), डीजल की कीमत 174.15 रुपये, मिट्टी के तेल की कीमत 155.95 रुपये और हल्के डीजल की कीमत 148.41 रुपये हो गई है।

गौरतलब है कि पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव को जायज ठहराते हुए शहबाज शरीफ ने कहा कि पिछली सरकार ने देश को तबाह कर दिया था. उन्होंने कहा, “हमने लोगों की मांग पर एक भ्रष्ट सरकार बदली।” आपको बता दें कि शहबाज शरीफ पिछले महीने सत्ता में आए थे जब उन्होंने अविश्वास प्रस्ताव के जरिए इमरान खान की सरकार को हटाने के बाद गठबंधन सरकार बनाई थी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button