HeadlinesTrendingUttar Pradesh

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में अब ऐसा क्या हुआ जो एसपी विजय ढुल का तबादला हो गया, जाने क्यों……

गुरुवार की देर शाम लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक यानी की (एसपी) विजय ढुल का तबादला कर दिया गया है

लखीमपुर खीरी हिंसा मामले में अब ऐसा क्या हुआ जो एसपी विजय ढुल का तबादला हो गया, जाने क्यों……

प्रीति कुमारी की रिपोर्ट लखनऊ: लखीमपुर खीरी हिंसा के करीब 40 दिन बीतने के बाद एक नया मोड़ आ गया हैं। बता दे गुरुवार की देर शाम लखीमपुर खीरी के पुलिस अधीक्षक यानी की (एसपी) विजय ढुल का तबादला कर दिया गया है। बताया जा रहा हैं की ढुल को लखनऊ में उत्तर प्रदेश राज्य पुलिस मुख्यालय से संबद्ध कर दिया गया है और उन्हें प्रतीक्षा सूची में रखा गया है। वहीं इसके साथ ही पुलिस अधीक्षक मुरादाबाद के पद पर तैनात अमित कुमार आनंद का भी तबादला किया गया है।

जानकारी के मुताबिक आपको बता दें कि गृह विभाग के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना है कि 2012 बैच के आईपीएस विजय ढुल के जगह 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी संजीव सुमन को एसपी पद के लिए चुना गया है जिसके बाद से इन्हें लखीमपुर खीरी जिले का नया एसपी घोषित किया गया है, जो अब एसपी पद का कार्यभार संभालेंगे।।

इस मामले पर एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा है कि संजीव सुमन, लखनऊ पुलिस आयुक्त काल में पुलिस उपायुक्त पूर्व के रूप में तैनात थी लेकिन अब उनकी जगह पर 2016 बैच के आईपीएस अधिकारी अमित कुमार आनंद को तैनात किया गया है।

दरअसल 3 अक्टूबर को तिकुनिया में हुए बवाल में 4 किसान और एक पत्रकार समेत आठ लोगों की ट्रक से कुचलकर मौके पर ही मौत हो गई थी, इसी मामले में किसानों की तरफ से केंद्रीय गृह राज्य मंत्री के पुत्र आशीष मिश्रा समेत 15 से 20 अज्ञात लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई थी, मामले की जांच के लिए गठित एसआईटी टीम आशीष मिश्रा, आशीष पांडे, लवकुश राडा, शेखर भारती, अंकित दास और काले उर्फ लतीफ, भाजपा सभासद सुमित जयसवाल, नंदन सिंह विष्ट, सत्यम त्रिपाठी, मोहित त्रिपाठी, रिंकू राणा, धर्मेंद्र बाजरा और शिशुपाल को गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका है। जिसके बाद भी अभी तक इस मामले पर न्याय को लेकर कोर्ट में सुनवाई चल रही है।।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button