DelhiHeadlines

सीमा पर तनाव के बीच भारत का करारा जवाब, चीन समेत इन देशों कोअब नहीं मिलेगा ई-वीजा

भारत ने 5 साल पहले चीन के टूरिस्ट्स की सुविधा के लिए पीआरसी के नियमों में ढील दी थी. पीआरसी में चीन केअलावा अफगानिस्तान, इराक और सूडान के नागरिक भी शामिल थे.

दिल्ली ब्यूरो : सीमा पर चल रहे तनाव के बीच भारत (India) ने बड़ा फैसला किया है. भारत ने चीन (China) केनागरिकों को इलेक्ट्रॉनिक टूरिस्ट वीजा (E-Visa) नहीं देने का फैसला किया है. इसके अलावा कनाडा (Canada), यूनाइटेड किंगडम (United Kingdom), ईरान (Iran), मलेशिया (Malaysia), इंडोनेशिया (Indonesia) और सऊदीअरब (Saudi Arabia) के नागरिकों को भी अब भारत वीजा नहीं देगा. हालांकि ताइवान, वियतनाम, सिंगापुर औरअमेरिका समेत 152 अन्य देशों के नागरिक अभी भी वीजा ले पाएंगे.

इकोनॉमिक टाइम्स के मुताबिक, इससे पहले भारत ने 171 देशों के नागरिकों को वीजा की सुविधा दी हुई थी. मानाजा रहा है कि पीपुल्स लिबरेशन आर्मी के साथ लद्दाख में चल रहे तनाव के बीच भारत सरकार ने ये फैसला किया है. पिछले 1 साल में लद्दाख के अलावा अरुणाचल प्रदेश और उत्तराखंड में भी चीन और भारत के सैनिक आमनेसामने खड़ेदिखाई दिए.

जान लें कि भारत ने 2015-16 में चीनी पर्यटकों के लिए प्रायर रेफरल कैटेगरी (PRC) नियमों में ढील दी थी और चीनको वीजा पाने वाले 171 देशों के साथ शामिल किया था. चीन, अफगानिस्तान, पाकिस्तान, इराक, सूडान के अलावापाकिस्तानी मूल के विदेशी पीआरसी के तहत आते थे. हालांकि, मार्च 2020 में यात्रा प्रतिबंधों की घोषणा के बादकोविड-19 के प्रकोप के दौरान सभी टूरिस्ट वीजा रद्द कर दिए गए थे.

गौरतलब है कि अगस्त 2020 में भारत की सरकार ने अंतरराष्ट्रीय यात्रा के लिए नियमों में ढील दी थी और अमेरिका, यूनाइटेड किंगडम, जर्मनी और फ्रांस के नागरिकों को एयर बबल स्कीम के तहत भारत आने की अनुमति दी थी. फिर दोमहीने बाद इलेक्ट्रॉनिक, पर्यटक और चिकित्सा श्रेणियों को छोड़कर सभी वीजा के लिए प्रतिबंधों में और ढील दी गई थी.

भारत सरकार की तरफ से जारी किए दिशानिर्देशों के अनुसार, मौजूदा वीजा और 6 अक्टूबर से पहले जारी किए गएपर्यटक वीजा निलंबित रहेंगे.

हमारी कोशिश है किआपके पास सबसे पहले जानकारी पहुंचे. इसलिए आपसे अनुरोध है कि सभी बड़े अपडेट्सजानने केलिए नीचे दीया गया लिंक के लाइक फॉलो और सब्सक्राइब कर लें.

(देश और दुनिया की खबरों के लिए हमें Facebook पर ज्वॉइन करें, और हमें Twitter और YouTube पर फॉलोकरें)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: