DelhiHeadlines

द कॉन्टिनेंटल जीटी कप के पहले संस्करण के साथ रॉयल एनफील्ड ने ट्रैक रेसिंग में प्रवेश किया

निरंतर उत्पादन करने वाला दुनिया का सबसे पुराना मोटरसाइकल ब्रांड, रॉयल एनफील्ड 120 सालों से ज्यादा समय से प्योर मोटरसाइक्लिंग की संस्कृति को प्रोत्साहित करने और उसका विकास करने पर केंद्रित रहा है

द कॉन्टिनेंटल जीटी कप के पहले संस्करण के साथ रॉयल एनफील्ड ने ट्रैक रेसिंग में प्रवेश किया

• भारत के पहले रेट्रो रेसिंग फॉर्मेट- रॉयल एनफील्ड कॉन्टिनेंटल जीटी कप का उद्देश्य नए प्रतियोगियों एवं अनुभवी रेसर्स के लिए ट्रैक रेसिंग में प्रवेश करना आसान बनाना है।

• रॉयल एनफील्ड की सबसे शक्तिशाली ट्रैक रेसिंग मोटरसाइकल – कॉन्टिनेंटल जीटी 650 पर निर्मित- जीटी कप का उद्देश्य मोटरसाइक्लिंग की उप-संस्कृतियों एवं समुदायों का विकास करना है।

• जेके मोटरस्पोर्ट्स के साथ गठबंधन में लॉन्च किए गए कॉन्टिनेंटल जीटी कप का पहला संस्करण अक्टूबर 2021 में जेके नेशनल रेसिंग चैंपियनशिप में प्रदर्शित होगा। इसके लिए ऑनलाईन रजिस्ट्रेशन 22 सितंबर, 2021 को शुरू होंगे।

• रॉयल एनफील्ड 2021-22 के सीज़न में ट्रैक स्कूल्स प्रस्तुत करेगा, ताकि मोटरस्पोर्ट्स का विकास हो तथामोटरसाइकल सवारों को ट्रैक राइडिंग सीखने का एक आसान प्लेटफॉर्म प्रदान किया जा सके।

दिल्ली ब्यूरो, 24 सितंबर, 2021: निरंतर उत्पादन करने वाला दुनिया का सबसे पुराना मोटरसाइकल ब्रांड, रॉयल एनफील्ड 120 सालों से ज्यादा समय से प्योर मोटरसाइक्लिंग की संस्कृति को प्रोत्साहित करने और उसका विकास करने पर केंद्रित रहा है। सालों से रॉयल एनफील्ड का एकमात्र उद्देश्य राइडिंग एंथोसिएस्टस के लिए मोटरसाइक्लिंग के अद्वितीय अनुभवों का निर्माण करना और उन्हें खोज करने में समर्थ बनाना है। दुनिया में लाखों मोटरसाइकल राईडर्स लद्दाख, भारत में हिमालयन ओडिसी से लेकर तिब्बत में माउंट एवरेस्ट बेस कैंप तक अनेक राईड्स व ईवेंट्स द्वारा रॉयल एनफील्ड के श्रेष्ठ प्रदर्शनों की सूची के साथ सरल, मनोरंजक और लेज़र मोटरसाइक्लिंग की दुनिया में शामिल किए गए हैं।

लेज़र राइडिंग की संस्कृति का निर्माण करने व बढ़ाने में मुख्य भूमिका रॉयल एनफील्ड ने निभाई है। यह ब्रांड उत्तम मोटरसाइक्लिंग उपसंस्कृति जैसे एंड्योरेंस रेस, क्रॉस-कंट्री ट्रायल, रोड रेसिंग, आदि का एक महत्वपूर्ण हिस्सा रहा है। इंटरनेशनल सिक्स डे ट्रायल्स प्रतियोगिताओं में जीत हासिल करने से लेकर डेटोना अमेरिकन फ्लैट ट्रैक में पोडियम स्थिति हासिल करने, और स्पीड वीक, साउथ ऑस्ट्रेलिया में क्लास स्पीड का रिकॉर्ड तोड़ने तक, रॉयल एनफील्ड लगातार नए फॉर्मेट्स का विकास करती आई है। हाल ही में बैंगलोर में रॉयल एनफील्ड स्लाईड स्कूल के साथ एक्सेसिबल फ्लैट-ट्रैक रेसिंग में प्रवेशकरनाइस प्रयास का प्रमाण है।

उत्तम राईडिंग संस्कृति का विकास करने और रियल-वर्ल्ड ट्रैक रेसिंग में नए मार्ग खोलने के उद्देश्य से रॉयल एनफील्ड ने आज एक अद्वितीय रेट्रो ट्रैक-रेसिंग अभियान – रॉयल एनफील्ड कॉन्टिनेंटल जीटी कप 2021 की शुरुआत की घोषणा की। कॉन्टिनेंटल जीटी कप भारत में आसानी से उपलब्ध रेसिंग व प्रशिक्षण की जरूरत एवं मोटरसाइकल ट्रैक रेसिंग में बढ़ती रुचि के प्रतिच्छेद बिंदु पर स्थिति है। कॉन्टिनेंटल जीटी कप 2021 के फिनालेके बाद, रॉयल एनफील्ड भारत में ट्रैक स्कूल भी खोलेगा, जिसका उद्देश्य मोटरसाइकल रेसिंग सीखने एवं अपना राइडिंग का कौशल बढ़ाने के इच्छुक मोटरसाइकल सवारों को आसान व व्यवसायिक प्रशिक्षण प्रदान करना है।
जेके टायर मोटरस्पोर्ट्स द्वारा प्रस्तुत एवं फेडरेशन ऑफ मोटरस्पोर्ट्स क्लब ऑफ इंडिया (एफएमएससीआई) के तत्वाधान में आयोजित, रॉयल एनफील्ड कॉन्टिनेंटल जीटी कप की शुरुआत जेके नेशनल रेसिंग चैंपियनशिप 2021 में होगी और यह एफएमएससीआई के नियमों के अनुरूप चलाया जाएगा। कॉन्टिनेंटल जीटी कप 2021 की शुरुआत अक्टूबर, 2021 में होगी और चार राउंड के बाद इसका समापन जनवरी, 2022 में होगा।

रॉयल एनफील्ड कॉन्टिनेंटल जीटी कप के लॉन्च के बारे में और मोटरस्पोर्ट्स में प्रवेश करने के रॉयल एनफील्ड के प्रोत्साहन के बारे में, एड्रियन सेलर्स – कस्टम प्रोग्राम लीड एवं मैनेजर, प्रोडक्ट स्ट्रेट्जी और इंडस्ट्रियल डिज़ाईन, रॉयल एनफील्ड ने कहा, ‘‘प्योर मोटरसाइक्लिंग की भावना का विकास करना व उसे प्रोत्साहन देना एक सदी से ज्यादा समय से रॉयल एनफील्ड का मुख्य सिद्धांत है। दुनिया में राईडिंग समुदाय के बीच राईड्स एवं ईवेंट्स के लंबे इतिहास के साथ हम रेसिंग में भी सक्रियता से संलग्न हैं और सर्वश्रेष्ठ स्तर की रेसिंग ईवेंट्स जैसे अमेरिकन फ्लैट ट्रैक में 1914 आईल ऑफ मैन टीटी, 1960 बिग बियर रन, 2020 डेटोना एवं 2021 डीटीआरए फ्लैट ट्रैक ‘ट्विंस क्लास’ चैंपियनशिप आदि में सफल हो चुके हैं।

2019 में हमने हैरिस परफॉर्मेंस के साथ दो रेस रेडी कॉन्टिनेंटल जीटी 650 मोटरसाइकल विकसित कीं और रेसिंग में उनके 40 सालों के अनुभव का इस्तेमाल करके बेस मोटरसाइकल में कोई मूलभूत परिवर्तन किए बिना ट्रैक के लिए सर्वश्रेष्ठ जीटी बनाईं। परिणाम हमारी अपेक्षाओं से बढ़कर रहा और हम कॉन्टिनेंटल जीटी कप के लॉन्च के साथ इस कहानी को आगे बढ़ाने के लिए उत्साहित हैं। यह रेट्रो ट्रैक-रेसिंग एवं मोटरस्पोर्ट्स में हमारा दिलचस्प एवं रोमांचक प्रवेश है। भारत में ट्रैक-रेसिंग के प्रति बढ़ते रुझान के साथ कॉन्टिनेंटल जीटी कप महत्वाकांक्षी रेसर्स को भारत में सर्वश्रेष्ठ रेस सर्किट्स में अपने कौशल के प्रदर्शन व संवर्धन का अवसर देगा। कॉन्टिनेंटल जीटी 650 हमारे पोर्टफोलियो में सबसे ज्यादा ट्रैक-रेडी मोटरसाइकल है और थोड़े से संशोधनों के साथ रेस के लिए बनाई गई कॉन्टिनेंटल जीटी-आर650 ट्रैक के लिए सर्वश्रेष्ठ मशीन है। हमें इस साल एक शानदार पहले सीज़न की उम्मीद है और हमें आशा है कि ट्रैक-रेसिंग की भावना साल-दर-साल बढ़ती रहेगी।’

कॉन्टिनेंटल जीटी पहली फैक्ट्री-बिल्ट, प्रोडक्शन कैफे रेसर है और पिछले सालों में इसने रेट्रो रेसिंग की भावना को समाहित किया है। ब्रिटिश रोड रेसिंग एवं 1960 की कैफे-टू-कैफे रेसिंग संस्कृति से प्रेरित ओरिज़नल कॉन्टिनेंटल जीटी 250 का लॉन्च 1964 में किया गया और यह तेजी से ‘ब्रिटेन की सबसे तेज 250’ बन गई। बोल्ड रेड फाईबरग्लास टैंक और मोंज़ा फिलर कैप, क्लिप-ऑन हैंडलबार, रियर-सेट, फ्लाईस्क्रीन एवं स्वेप्ट-बैक स्पोर्ट्स एग्ज़ॉस्ट के साथ जीटी250 एक सफल, बॉर्न-टू-रेस स्ट्रीट मोटरसाइकल है। 1960 की 250 के साथ शुरू होकर एवं 2014 की जीटी 535 तथा आज की जीटी 650 ट्विन के साथ आगे बढ़ते हुए रॉयल एनफील्ड कॉन्टिनेंटल जीटी सर्वश्रेष्ठ कैफे रेसर बनी हुई है।

रेट्रो रेसिंग के ये गुण सड़क पर जीटी 650 के बेहतरीन आचरण में परिलक्षित होते हैं, जो मौजूदा समय में प्रतियोगिता के लिए एक बहुत सक्षम प्लेटफॉर्म है। हाल के सालों में कॉन्टिनेंटल जीटी 650 ने गति के मामले में अपनी क्षमता साबित कर दी है। 2018 में कायला रिवास ने अपने विशेष रूप से ट्यून किए गए एवं मोडिफाईड कॉन्टिनेंटल जीटी 650 पर बोनेविलसाल्ट फ्लैट्स में 157 मील प्रति घंटे की नई गति का कीर्तिमान बनाया। द नॉट टी जीटी 650 ने 2019 के बाईक शेड फेस्टिवल कैफे रेसर कप में विजय हासिल की और पहले एवं दूसरे स्थान पर रॉयल एनफील्ड राईडर पॉल यंग एवं कुर्टिस राईट रहे। पॉल ने सिनरोज़ा कॉन्टिनेंटल जीटी 650 पर व्हील्स एंड वेव्स पंक्स पीक स्प्रिंट में विजय हासिल की और कुर्टिस ग्लेमसेक 101 में उसी जीटी को राईड करते हुए दूसरे स्थान पर रहे।

कॉन्टिनेंटल जीटी 650 एक संपूर्ण पैकेज है। विकास के दौरान, इसकी सहजता, फुर्ती और विश्वसनीयता को हजारों घंटों की ट्रैक टेस्टिंग द्वारा प्रमाणित किया गया है। इसीलिए रॉयल एनफील्ड को एक समान मेक की रेस सीरीज़ शुरू करने की प्रेरणा मिली। इसके बेहतरीन टॉर्क एवं पॉवर डिलीवरी के साथ शानदार चेसिस के कारण कॉन्टिनेंटल जीटी-आर650 को ट्रैक पर बेहतरीन प्रदर्शन के लिए कुछ संशोधनों के साथ इस्तेमाल किया जा सकता है। जीटी कप ने भारत में एक वास्तविक रेट्रो ट्रैक रेसिंग की शुरुआत की है। अब हजारों सवारों को कॉन्टिनेंटल जीटी की पूरी क्षमता का अनुभव लेने का मौका मिलेगा।

कॉन्टिनेंटल जीटी आर650 के ट्रैक-स्पेक्स न्यूनतम हैं, लेकिन पर्पज़-बिल्ट परफॉर्मेंस मोडिफिकेशन इसे साहसी, फुर्तीला और जोशीला प्रदर्शन प्रदान करते हैं। साथ ही, मोटरसाइकल के सरल, ओल्ड-स्कूल बिल्ड के कारण इसका रखरखाव एवं रिपेयर बहुत आसान है, जिसके कारण यह एक श्रेष्ठ ट्रैक टूल है, जो नए लोगों द्वारा सीखना बहुत आसान है और अनुभवी रेसर्स के हाथों में यह उतनी ही सक्षम मशीन है।

जीटी-आर650 में फ्रंट और रियर में शक्तिशाली रेस-ट्यूंड सस्पेंशन हैं, ताकि उच्च स्पीड में बेहतर हैंडलिंग प्राप्त हो। रेसिंग के लिए हैंडलबार पर लोअर्ड रेस क्लिप एवं रियर-सेट फुट पेग्स जोड़े गए हैं, बेहतर राईडर एयरोडाइनामिक्स एवं ज्यादा हाई लीन एंगल प्रदान किए गए हैं। केवल रेसिंग के लिए जरूरी चीजों को रखकर जीटी-आर650 का वजन 24 किलोग्राम कम किया गया है। स्टॉक एग्ज़ॉस्ट को बिस्पोक स्टेनलेस स्टील फुल सिस्टम एग्ज़ॉस्ट से बदला गया है, जिसे 12 प्रतिशत ज्यादा पॉवर प्रदान करने के लिए ट्यून किया गया है। यह मोटरसाइकल विशेष डिज़ाइन के फेयरिंग एवं बेली पैन के साथ आती है, जो ज्यादा एयरोडाइनामिक्स प्रदान करती है और जीटी-आर650 को बेहतरीन रेट्रो रेसर लुक मिलता है। इस मोटरसाइकल में जेके टायर के सॉफ्ट कंपाउंड रेस टायर हैं, ताकि बेहतर कॉर्नरिंग स्पीड और फीडबैक के साथ बेहतर ग्रिप एवं ब्रेकिंग मिले।

इस अवसर पर श्री श्रीनिवासु अल्लाफन, डायरेक्टर- सेल्स एवं मार्केटिंग, जेके टायर एंड इंडस्ट्रीज़ ने कहा, ‘‘भारत में मोटर स्पोर्टर्स को बढ़ावा देने में अग्रणी, जेके टायर भारतीय रेसिंग प्रोग्राम्स को औपचारिक रूप देने तथा देश में युवा प्रतिभाओं का विकास करने में सबसे आगे है। हमारी नेशनल रेसिंग चैंपियनशिप, जो भारत की प्रमुख रेसिंग चैंपियनशिप है, अब अपने 25वें साल में प्रवेश कर चुकी है। इन सालों में, इस प्लेटफॉर्म ने न केवल विश्व-स्तरीय रेसर दिए हैं, बल्कि अनेक ऑटो निर्माताओं के लिए एक अलग पोडियम का निर्माण भी किया है, जहां पर वो अपनी मशीनों एवं टेक्नॉलॉजी की एन्ड्योरेंस का परीक्षण कर सकें। हमें खुशी है कि हमारो सिल्वर जुबली वर्ष में हमारे साथ रॉयल एनफील्ड जुड़ गई है। रॉयल एनफील्ड कॉन्टिनेंटल जीटी कप रेसिंग के शौकीनों को आकर्षित करने और टू-व्हीलर रेसिंग की दुनियासे उन्हें जोड़ने की दिशा में उठाया गया एक कदम है। हमें विश्वास है कि इससे भारत में मोटरस्पोर्ट्स की लगातार बढ़ती लोकप्रियता को बल मिलेगा। हम रॉयल एनफील्ड कॉन्टिनेंटल जीटी कप 2021 की आकर्षक शुरुआत के लिए उत्साहित हैं।’

कॉन्टिनेंटल जीटी कप के लिए रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया आज सुबह 11:00 बजे से 30 सितंबर, शाम 5:00 बजे तक चलेगी। रजिस्टर्ड प्रतिभागियों में से 100 सफल राईडर करी मोटर स्पीडवे, कोयम्बटूर में राईडर सलेक्शन प्रोग्राम के लिए चुने जाएंगे, जो 18 और 19 अक्टूबर, 2021 को आयोजित होगा। इसमें 18 सबसे तेज राईडर्स का चयन होगा। उसके बाद उन्हें जेके एनआरसी में 4 राउंड में कॉन्टिनेंटल जीटी कप के लिए प्रतिस्पर्धा करनी होगी, जिसमें से 3 राउंड अक्टूबर, नवंबर और दिसंबर में करी मोटर स्पीडवे, कोयम्बटूर में आयोजित होंगे और इसके ग्रांड फाईनल का आयोजन जनवरी, 2022 में बुद्ध इंटरनेशनल सर्किट, नोएडा में होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: