DelhiHeadlines

114 मल्टीरोल लड़ाकू विमान खरीदेगी IAF, खर्च किए जाएंगे 1.25 लाख करोड़ रुपए

एयरचीफ मार्शल वीआर चौधरी बताया कि इन 114 मल्टीरोल लड़ाकू विमानों के जरिए वायुसेना में कम होती फाइटरएयरक्राफ्ट स्क्वाड्रन की संख्या को टैकल किया जाएगा

दिल्ली ब्यूरो : भारतीय वायुसेना लगातार अपनी ताकत बढ़ाने में जुटी हुई है. इसी के तहत 114 मल्टीरोल लड़ाकू विमानोंकी खरीद की तैयारी की जा रही है. इसके लिए 1.25 लाख करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे. भारतीय वायुसेना के एयरचीफमार्शल वीआर चौधरी ने इसकी जानकारी दी.

उन्होंने बताया कि इन 114 मल्टीरोल लड़ाकू विमानों के जरिए वायुसेना में कम होती फाइटर एयरक्राफ्ट स्क्वाड्रन कीसंख्या को टैकल किया जाएगा. वहीं जब उनसे पूछा गया कि क्या भारतीय वायुसेना 36 और राफेल लड़ाकू विमान काऑर्डर देगी, इस पर उन्होंने कहा कि राफेल भी 114 मल्टीरोल लड़ाकू विमानों का हिस्सा होगा.

एयर चीफ मार्शल विवेक राम चौधरी हाल ही में भारतीय वायु सेना के नए प्रमुख बने हैं. उन्होंने आरकेएस भदौरिया कीजगह ली है. आरकेएस भदौरिया 42 साल की सेवा के बाद आज रिटायर हुए थे. नए वायुसेना प्रमुख चौधरी वायुसेना कीपश्चिमी वायु कमान (WC) के कमांडरइनचीफ के रूप में भी काम कर चुके हैं.

इस कमान के पास संवेदनशील लद्दाख क्षेत्र (LAC) के साथसाथ उत्तर भारत के अन्य हिस्सों में देश के वायु क्षेत्र कीसुरक्षा की जिम्मेदारी होती है.ऐसे में वीआर चौधरी के नए वायुसेना प्रमुख बनने के बाद चीन के साथ संबंधों में कुछ हदतक सुधार आने की उम्मीद की जा रही है. वहीं रिटायरमेंट से पहले निवर्तमान वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने आजदिल्ली में राष्ट्रीय युद्ध स्मारक पर श्रद्धा सुमन अर्पित किए.

3,800 घंटे से ज्यादा उड़ाए हैं एयरक्राफ्ट

राष्ट्रीय रक्षा अकादमी के पूर्व छात्र और एयर चीफ मार्शल चौधरी 29 दिसंबर, 1982 को भारतीय वायुसेना में शामिल हुएथे. लगगभग 38 सालों के विशिष्ट करियर में उन्होंने भारतीय वायुसेना के अलगअलग तरह के लड़ाकू और ट्रेनिंगएयरक्राफ्ट्स उड़ाए हैं. उन्हें मिग-21, मिग-23 एमएफ, मिग-29 और सुखोई-30 एमकेआई लड़ाकू विमानों को 3,800 घंटेसे ज्यादा के उड़ान का अनुभव है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button