BusinessHeadlines

अदाणी ट्रांसमिशन 1,200 करोड़ रुपये के कैपेक्स के साथ मध्य प्रदेश में पावर ट्रांसमिशन सिस्टम को मजबूती प्रदान करेगा

भारत की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की पावर ट्रांसमिशन कंपनी, अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड (एटीएल)डायवर्सिफाइड अदाणीग्रुप का हिस्सा है

अदाणी ट्रांसमिशन 1,200 करोड़ रुपये के कैपेक्स के साथ मध्य प्रदेश में पावर ट्रांसमिशन सिस्टम को मजबूती प्रदान करेगा

परियोजनाप्रतिस्पर्धी बोली के जरिये हासिल की गई, जिसके दायरे में 18 जिलों की ट्रांसमिशन लाइनें और सबस्टेशन आते हैं

सार-संक्षेप

  • एटीएल ने टैरिफ-आधारित प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के जरिये परियोजना हासिल की।
  • · ‘एमपी पावर ट्रांसमिशन पैकेज-II लिमिटेड’ परियोजना के अंतर्गत मध्य प्रदेश के 18 जिलों में 850 सीकेटी किमी से अधिक ट्रांसमिशन लाइनें और एआईएस सबस्टेशन (220 केवी और 132 केवी) शामिल हैं।
  • परियोजना एमपी पावर मैनेजमेंट कंपनी लिमिटेड (एमपीपीएमसीएल) के लिए पूर्वी मध्य प्रदेश के ट्रांसमिशन सिस्टम को मजबूती प्रदान करेगी।
  • एटीएल 35 वर्षों की अवधि के लिए ट्रांसमिशन परियोजना का निर्माण करेगा, स्वामित्व रखेगा, तथा संचालन और रखरखाव करेगा।
  • इस अधिग्रहण के साथ, एटीएल 33,000 एमवीए ट्रांसमिशन क्षमता को पार कर जाएगा।

अहमदाबाद,15 सितंबर 2021: भारत की सबसे बड़ी निजी क्षेत्र की पावर ट्रांसमिशन कंपनी, अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड (एटीएल)डायवर्सिफाइड अदाणीग्रुप का हिस्सा है। एटीएलको आरईसी पावर डेवलपमेंट एंड कंसल्टेंसी लिमिटेड द्वारा निगमित, एमपी पावर ट्रांसमिशन पैकेज-II लिमिटेड के अधिग्रहण के लिए आशय पत्र (एलओआई) प्राप्त हुआ है।

एटीएल ने टैरिफ-आधारित प्रतिस्पर्धी बोली (टीबीसीबी) प्रक्रिया के जरिये परियोजना हासिल की और 14 सितंबर 2021 को एलओआई प्राप्त किया। एटीएल 35 वर्षों की अवधि के लिए मध्य प्रदेश में ट्रांसमिशन परियोजना का निर्माण करेगा, स्वामित्व रखेगा, तथा उसका संचालन और रखरखाव करेगा।

‘एमपी पावर ट्रांसमिशन पैकेज-II लिमिटेड’ परियोजनामें मध्य प्रदेश के 18 जिलों में लगभग 850 सीकेटी किमी ट्रांसमिशन लाइनें और विभिन्न वोल्टेज स्तरों (220 केवी और 132 केवी) के एयर इंसुलेटेड सबस्टेशन शामिल हैं। 1,200 करोड़ रुपये के पूंजीगत व्यय (कैपेक्स) के साथ, एटीएल की परियोजना के कार्यान्वयन से पूर्वी मध्य प्रदेश में ट्रांसमिशन सिस्टम को मजबूती मिलेगी।

अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड के एमडी एवं सीईओ श्री अनिल सरदाना ने बताया कि“प्राइवेट सेक्टर के पावर ट्रांसमिशन इंफ्रास्ट्रक्चर के निर्माण में अग्रणी भूमिका निभाते हुए, हम प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के माध्यम से अपनी अखिल भारतीय उपस्थिति को बढ़ाने में तेजी ला रहे हैं और सर्वोत्तम सस्टेनेबल प्रथाओं में इंडस्ट्रियल बेंचमार्क्स को भी स्थापित कर रहे हैं। इस नवीनतम परियोजना के जरिये हम मध्य प्रदेश में ट्रांसमिशन इंफ्रास्ट्रक्चर के विकास में महत्वपूर्ण योगदान देने की स्थिति में रहेंगे।”

इस परियोजना को हासिल करके, भारत की सबसे बड़ी ऑपरेटिंग प्राइवेट पावर ट्रांसमिशन कंपनी के रूप में एटीएल की स्थिति मजबूत हुई है और एटीएल को 2022 तक 20,000 सीकेटी किमी ट्रांसमिशन लाइनें स्थापित करने के अपने लक्ष्य के करीब ले जाती है। इस परियोजना के जरिये कंपनी 2022 तक सभी के लिए बिजलीउपलब्ध कराने केभारत सरकारके प्रयास में भी सहायता कर पायेगी।

अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड के बारे में

अदाणी ट्रांसमिशन लिमिटेड (एटीएल) भारत के सबसे बड़े व्यापारिक समूहों में से एक, अदाणी ग्रुप की ट्रांसमिशन एवं डिस्ट्रिब्यूशन बिजनेस शाखा है। एटीएलदेश की सबसे बड़ी प्राइवेट ट्रांसमिशन कंपनी है, जिसका संचयी ट्रांसमिशन नेटवर्क ~ 18,800 सीकेटी किलोमीटर है, जिसमें से ~ 13,200 सीकेटी किलोमीटर परिचालन अवस्था में है और ~ 5,600 सीकेटी किलोमीटर निर्माण के विभिन्न चरणों में है। एटीएलमुम्बई में लगभग 3 मिलियन से अधिक ग्राहकों को सेवा देने वाला एक डिस्ट्रिब्यूशन बिजनेस भी संचालित करता है। आने वाले वर्षों में ऊर्जा के मामले में भारत की चौगुनी जरूरत को देखते हुए, एटीएल मजबूत और भरोसेमंद पॉवर ट्रांसमिशन नेटवर्क बनाने के लिए, और रिटेल ग्राहकों की सेवा करने तथा 2022 तक ‘सबके लिए बिजली’ का लक्ष्य हासिल करने की दिशा में पूरी सक्रियता से काम करने के लिए तैयार है।

अधिक जानकारी के लिए, कृपया वेबसाइटwww.adanitransmission.com/देखें।

मीडिया के सवालों के लिए: कृपया रॉय पॉल Iroy.paul@adani.comसे संपर्क करें।

निवेशक संबंधों के लिए कृपया विजिल जैन |vijil.jain@adani.com से संपर्क करें।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
%d bloggers like this: